टिश्यू पेपर बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें। Tissue Paper Making Business in Hindi

टिश्यू पेपर आज के ज़माने में बहुत ज्यादा उपयोग किया जा रहा है।  घर, दफ्तर, रेस्टोरेंट या फिर मॉल सभी जगह आपको टिश्यू पेपर आसानी से मिल जाएगा।  दोस्तों क्या आप जानते हैं कि टिश्यू पेपर के बिज़नेस से अच्छी खासी कमाई की जासकती है।  जी हाँ, आपने सही सुना यह बिज़नेस बहुत ही ज्यादा चलन में है और सबसे खास बात यह है कि इसको आप बहुत ही आसानी से कर सकते हैं।  क्या आप जानना चाहते हैं कि टिश्यू पेपर कैसे बनता है या फिर टिश्यू पेपर बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें (Tissue Paper Making Business in Hindi)? 

यह लेख हम इसीसलिए लेकर उपस्थित हुए है जिससे कि आपको टिश्यू पेपर बाने के व्यापार को हिंदी में बहुत ही सरल ढंग से बता सकें . इस लेख में स्टार्टिंग से लेकर मार्केटिंग और कमाई तक का सफर बताया गया है जिससे आपको कहीं और जाने कि जरूरत न पड़े। 

सबसे पहले हम यह कहते है कि कौन लोग इस व्यापार को कर सकते है, या यह कह सकते है कि, किन-किन चीजों कि आवश्यकता होगी। 

Tissue Paper Making Business शुरू करने के लिए आवश्यक वस्तुए

यदि आप टिश्यू पेपर बनाने का व्यापार करना चाहते है तो यह जानना बहुत ही जरुरी है कि आपको किन-किन चीजों कि आवस्यकता होगी। 

  • रॉ मटेरियल (कच्चा माल)
  • लगने वाली मशीन। 
  • जगह या स्थान। 
  • जरूरी दस्तावेज।

आवश्यक रॉ मटेरियल (कच्चा माल)(Tissue Paper Making Raw Material)

Tissue Paper Making Business in Hindi

इस बिजनेस को शुरू करने के लिए सबसे पहले आपको कच्चे माल की आवश्यकता होगी. जो कि बहुत ही आसानी से मिल जायेगी।  

कच्चे माल के रूप में इस बिजनेस में सिर्फ पेपर रोल कि जरूरत होती है जिसकी औसत मूल्य 50-55 रूपये प्रति किलो होती है। आजकल यह पेपर रोल ऑनलाइन उपलब्ध है जिसे बहुत ही आसानी से खरीद सकते हैं. इसके अलावा अगर आप चाहें तो डायरेक्ट फैक्ट्री से भी समरक कर सकतें हैं। 

लगने वाली मशीन (Tissue Paper Making Machine)

दूसरी सबसे ज्यादा आवश्यक वास्तु है, लगने वाली मशीन। मशीन के बिना आप अच्छा टिश्यू पेपर नहीं बना सकते हैं।  हालाँकि, यह सेमि-ऑटोमैटिक और ऑटोमैटिक, दो वेरिएंट मैं आती है। आप अपनी सविधा के अनुसार लें। पर, अब यह सिर्फ आटोमेटिक ही आते है। यदि बात करें मूल्य कि तो टिश्यू पेपर बनाने के लिए लगने वाली मशीन का मूल्य लगभग 5 लाख होता है। मशीन को भी आप ऑनलाइन आसानी से खरीद सकते हैं। 

जगह या स्थान (Area required for set up the plant)

इस मशीन सहित सारा सेटअप स्थापित करने के लिए आपको कम से कम 700 वर्ग फीट स्थान की आवश्यकता चाहिए होगी. इतने स्थान में आप मशीन से लेकर पैकेजिंग तक का सारा सेटअप बड़ी आसानी से कर सकते हैं. अगर यह स्थान आपका पाना हो तो अच्छा है वार्ना आप किराये पर भी ले सकते हैं।

Tissue paper business के लिए लगने वाले जरूरी दस्तावेज

Tissue Paper Making Business in Hindi: यदि आप टिश्यू पेपर बनाने का व्यापार चालू करना चाहते हैं तो आपको  क़ानूनन निम्न दिए गये दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी :

  • व्यापार का पंजीकरण होना चाहिए। 
  • आपको ट्रेड लाइसेंस बनवाना पड़ेगा। 
  • पोल्यूशन कण्ट्रोल बोर्ड की तरफ से एनओसी सर्टिफिकेट भी होना चाहिए। 
  • फैक्ट्री स्थापना के लिए लाइसेंस की भी आवश्यकता होती है। 
  • उद्योग आधार (एमएसएमई) पंजीकरण के दस्तावेज। 
  • निर्यात करने के लिए आपको आईईसी संख्या कि भी आवश्यकता होगी। 

लगने वाला कुल खर्च (Tissue Paper Making Business Cost)

मशीन, रॉ मटेरियल, मशीन के लिए वायरिंग एवं अन्य विद्युतीय संसाधनों की आवश्यकता की पूर्ति में अगर बात करें कुल लागत कि तो, यह करीब 6 से 7 लाख कि होती है। 

बनाने की पूरी प्रक्रिया (Tissue Paper Making Process)

टिश्यू पेपर बनाने कि प्रक्रिया बहुत ही आसान है और इसे कुछ सरल चरणों के माध्यम से समझा जा सकता है:

  • मशीन में दिए गये रोलिंग जगह पर पेपर रोल को सेट करें। अब, यहाँ से पेपर रोल का एक हिस्सा मशीन में लगा दें।  
  • रंगीन टिश्यू बनाने के लिए आपको मशीन में दिए गये कलरिंग स्थान पर  रंग डाल कर इससे पेपर को जोड़ना होगा, और पेपर किसी ब्रांड का नाम आदि देने के लिए इसी कलर पैनल में रबर का टैग लगा दिया जाता है। 
  • अब, यहाँ से पेपर रोल का हिस्सा निकाल कर आगे एम्बोस्सिंग के लिए जाएगा। इस प्रोसेस से गुजरने के बाद टिश्यू पेपर पारदर्शी हो जाता है। 
  • इसके बाद पेपर मशीन के फोल्डिंग सेक्शन से होकर गुजरता है, इसमें यह पेपर की तरह फोल्ड हो कर काट लिया जाता है। 
  • अब, आपका टिश्यू पेपर पूरी तरह से तैयार हो जाता है। 

अब, बस बहने हुए टिश्यू पेपर को अच्छी तरह से पैक कर लें। पैकेट के साइज के अनुसार इसमें गिनती के टिश्यू पेपर डाल सकते है. जिससे कि आपको अंदाजा लग जाएगा कि एक पैकेट में कितने पेपर आ रहे हैं। अगर आप चाहें तो अपने कंपनी का ट्रेडमार्क भी इस्तेमाल कर सकते है पैकिंग लिफाफों पर। 

मार्केटिंग (Marketing)

Tissue Paper Making Business in Hindi: मार्केटिंग एक बहुत ही जरूरी प्रोसेस है कमाई करने के लिए।  इसके लिए आपको मार्किट का ज्ञान होना चाहिए। वैसे अगर बात करें कुछ सरल तरीको का तो आप, मार्केटिंग के लोए सेल्समेन से मिल सकते हैं जो कि थोड़े से कमीसन पर आपका माल आसानी से बेच देंगे।  इसके अलावा आप और भी बहुत से तरीके आजमा सकते हैं। याद रहे जितनी अच्छी मार्केटिंग होगी उतनी ही ज्यादा कमाई भी होगी।

Also Read: इलाइची की खेती कैसे करें- Cardamom farming in Hindi

Leave a Comment